मुठभेड़ पर सर्वोच्च न्यायालय में केस, NHRC हैदराबाद में
मुठभेड़ पर सर्वोच्च न्यायालय में केस, NHRC हैदराबाद में

तेलंगाना मुठभेड़ के खिलाफ सुप्रीम कोर्ट में याचिका दायर की गई है,इसमें पुलिसकर्मियों के खिलाफ एफआईआर और जांच की मांग की गई है।वहीं उन्नाव दुष्कर्म पीड़िता के भाई ने अपनी बहन के लिए इंसाफ की मांग की है।

उन्होंने कहा कि पांचों आरोपी मौत के लायक हैं इससे कम कुछ भी नहीं चाहिए। उन्नाव दुष्कर्म पीड़िता की मौत पर दुख जताते हुए सीएम योगी ने कहा है कि सभी आरोपियों को गिरफ्तार कर लिया गया है और इस मामले को फास्ट-ट्रैक कोर्ट में ले जाया जाएगा। उन्नाव दुष्कर्म मामले के पांचों आरोपियों को कल रात कोर्ट से जेल ले जाया गया।

आरोपियों को 14 दिन की न्यायिक हिरासत में भेज दिया गया है। बता दें, कार्डिएक अरेस्ट के बाद कल दिल्ली के सफदरजंग अस्पताल में इलाज के दौरान उन्नाव दुष्कर्म पीड़िता की मौत हो गई थी। इस बीच उन्नाव में एकबार फिर दुष्कर्म का एक और मामला सामने आया है। यहां माखी गांव में तीन साल की बच्ची के साथ दुष्कर्म के प्रयास के आरोप में एक को गिरफ्तार किया गया। मामला दर्ज कर लिया गया है और जांच चल रही है।

राष्ट्रीय मानवाधिकार आयोग (NHRC) की टीम हैदराबाद पहुंची है। राष्ट्रीय मानवाधिकार आयोग (NHRC) ने तेलंगाना मुठभेड़ का संज्ञान लेते हुए इस मामले की जांच के लिए टीम भेजी है। NHRC की टीम पहले मुठभेड़ स्थल का दौरा करेगी और फिर महबूबनगर जाएगी, यहां एक सरकारी अस्पताल में चारों आरोपियों के शव रखे गए हैं।

तेलंगाना मुठभेड़ के खिलाफ सुप्रीम कोर्ट में याचिका दायर की गई है।तेलंगाना में महिला डॉक्टर के साथ दुष्कर्म और हत्या के चार आरोपियों की मुठभेड़ में शामिल रहे पुलिस कर्मियों के खिलाफ एफआईआर, जांच और कार्रवाई की मांग करते गुए सुप्रीम कोर्ट में याचिका दायर की गई है।

सर्वोच्च न्यायालय के अधिवक्ता जीएस मणि और प्रदीप कुमार यादव ने याचिका दायर करते हुए कहा कि शीर्ष अदालत के 2014 के दिशानिर्देशों का पालन नहीं किया गया।

Leave a Reply