अब गूगल लाया पेपर फोन, जानिये क्या यह
अब गूगल लाया पेपर फोन, जानिये क्या यह

मौजूदा लाइफस्टाइल में स्मार्टफोन रोजमर्रा की जिंदगी का हिस्सा बन चुका है। मोबाइल का जिंदगी में दखल लगातार बढ़ रहा है। ऐसे में कई लोगों को स्मार्टफोन की लत लग जाती है। इनमें से बड़ी संख्या में ऐसे लोग है जिन्हें पता ही नहीं होता कि उन्हें स्मार्टफोन का अडिक्शन हो गया है। इस समस्या से निपटने के लिए गूगल ने एक अनोखा तरीका पेश किया है। स्मार्टफोन की लत छुड़ाने के लिए गूगल पेपर फोन लाया है।

गूगल का मानना है कि यह एक तरह का एक्सपेरिमेंट है जो लोगों ‘डिजिटल’ डिटॉक्स में मदद करता है। गूगल ने कहा, ‘हमें उम्मीद है कि यह छोटा सा एक्सपेरिमेंट आपको टेक्नॉलजी से डिजिटल डिटॉक्स में मदद कर सकता है और आप उन चीजों पर फोकस कर सकते हैं जो सबसे ज्यादा महत्वपूर्ण हैं।’

गूगल ने अपने एक ब्लॉग पोस्ट में बताया कि पेपर फोन एक एक्सपेरिमेंटल ओपन सोर्स ऐप है जिसे आप कभी भी ट्राई कर सकते हैं। यह स्मार्टफोन की लत छुड़ाने में आपकी मदद कर सकता है। इस ऐप के लिए कोड Github पर उपलब्ध है। आपको बता दें गिटहब माइक्रोसॉफ्ट की सहायक कंपनी है और दुनिया के सबसे बड़े सॉफ्टवेयर डिवेलपमेंट प्लेटफॉर्म में से एक है।

इस ऐप में आप अपनी जरूरत की चीजें जोड़ सकते हैं जैसे कॉन्टैक्ट्स या मैप्स। आप को इनमें से जिस सर्विस का इस्तेमाल करना है पेपर फोन ऐप उसका प्रिंट निकालता है। पेपर फोन का मुख्य उद्देश्य आपको फोन से दूर रखना है। यह ऐप आपको ज्यादा से ज्याद काम पेपर के जरिए करने के लिए बढ़ावा देता है।

गूगल ने इस बारे में समझाते हुए कहा, ‘बहुत लोगों को यह महसूस होता है कि वो अपने फोन पर बहुत ज्यादा समय बिता रहे हैं और टेक्नॉलजी के साथ संतुलन नहीं बना पा रहे।’ गूगल न आगे कहा, ‘पेपर फोन आपको आपकी जरूरतों के मुताबिक पर्सनल बुकलेट प्रिंट करके देता है जिससे आप डिजिटल दुनिया से दूर रह सकें।’

डिजिटल डिटॉक्स के लिए यह गूगल की पहली कोशिश नहीं है। ऐंड्रॉयड ऑपरेटिंग सिस्टम डिजिटल वेल-बींग फीचर के साथ आता है जिसका उद्देश्य है कि लोग अपनी डिवाइस पर कम समय बिताएं। पेपर फोन को गूगल बस एक तरह का प्रयोग बता रहा है जिससे लोगों की मदद की जा सके।

Leave a Reply