दिल्ली के चुनाव परिणाम कल

दिल्ली के मुख्य निर्वाचन अधिकारी (सीईओ) कार्यालय ने मतगणना की तैयारी पूरी कर ली है। मतगणना केंद्रों के बाहर सुरक्षा के कड़े इंतजाम किए गए हैं। मंगलवार को सुबह आठ बजे से मतों की गिनती का काम शुरू होगा। दोपहर 12 से एक बजे तक यह स्पष्ट हो जाएगा कि दिल्ली में किस दल की सरकार बनेगी, लेकिन नतीजे शाम तक घोषित होने की उम्मीद है।

सीईओ कार्यालय के अनुसार चुनाव आयोग के दिशा-निर्देश के तहत सभी विधानसभा क्षेत्रों के ईवीएम में दर्ज मतों को पांच वीवीपैट से मिलान करना जरूरी है। सभी 11 जिलों की 70 विधानसभा सीटों के लिए 21 मतगणना केंद्रों पर करीब 2600 कर्मचारी मतों की गिनती का काम पूरा करेंगे। चुनाव आयोग ने मतगणना के दौरान निगरानी करने के लिए 33 पर्यवेक्षक नियुक्त किए हैं।

सीईओ कार्यालय के अनुसार सुबह सबसे पहले पोस्टल बैलेट खोले जाएंगे। चुनावी ड्यूटी में लगे हजारों कर्मचारियों के पोस्टल बैलेट पर मतदान की सुविधा होती है। इसके अलावा इस बार 80 साल से अधिक उम्र के बुजुर्गों व दिव्यांग मतदाताओं को घर बैठे मतदान की सुविधा दी गई थी। इसके तहत 2691 बुजुर्ग व दिव्यांग मतदाताओं ने घर बैठे पोस्टल बैलेट के जरिये मतदान किया है।

इन वोटो की गिनती के बाद ईवीएम मशीने खुलेंगी। इस चुनाव में 13,751 ईवीएम मशीनें इस्तेमाल की गई हैं। इन ईवीएम मशीनों के खुलने के साथ ही 672 उम्मीदवारों की किस्मत का पिटारा भी खुलेगा। सुबह नौ बजे से रूझान मिलने की उम्मीद है।

पारदर्शी मतगणना के लिए सभी मतगणना केंद्रों पर सीसीटीवी कैमरे लगाए गए हैं। मतगणना के दौरान वीडियोग्राफी भी कराई जाएगी। इसके अलावा चुनाव आयोग ने मतगणना की जानकारी लोगों तक लाइव पहुंचाने की व्यवस्था की है। चुनाव आयोग की वेबसाइट व वोटर हेल्पलाइन एप के माध्यम से मतगणना की पल-पल की जानकारी लोग मोबाइल पर देख सकेंगे।

सभी विधानसभा क्षेत्रों के हर राउंड की मतगणना की जानकारी अपडेट होगी। सभी विधानसभा क्षेत्रों के मतों की गिनती के लिए औसतन 14 टेबल लगाए गए हैं। इस तरह एक बार में 14 बूथों की ईवीएम निकाली जाएंगी। विकासपुरी विधानसभा क्षेत्र में सबसे अधिक 376 बूथ थे। वहीं मटियाला विधानसभा क्षेत्र में 368 बूथ थे।

इसलिए इन दोनों क्षेत्रों की मतगणना 27 राउंड में पूरी होगी। वहीं दिल्ली कैंट की मतगणना 10 राउंड व जंगपुरा क्षेत्र की मतगणना 13 राउंड में पूरी होगी।

Leave a Reply