आयोग ने पश्चिम बंगाल में प्रचार समय से पहले रोका

आयोग ने पश्चिम बंगाल में प्रचार समय से पहले रोका

Kolkatta Riots

कोलकाता में बीजेपी अध्यक्ष अमित शाह के रोड शो में हुए विवाद के बाद चुनाव आयोग ने एक बड़ा फैसला लिया है। चुनाव आयोग ने पश्चिम बंगाल में चुनाव प्रचार के लिए एक दिन की कटौती की है। चुनाव आयोग ने कहा कि कल (गुरुवार) रात 10 बजे के बाद पश्चिम बंगाल की लोकसभा सीटों पर कोई चुनाव प्रचार नहीं होगा। पहले चुनाव प्रचार शुक्रवार शाम 5 बजे खत्म किया जाना था। चुनाव आयोग ने ईश्चरचंद विध्यासागर की मूर्ति तोड़े जाने को भी दुर्भाग्यपूर्ण बताया है। घटना पर कार्यवाही करते हुए चुनाव आयोग ने एडीजी (सीआईडी) और राज्य के प्रधान सचिव (गृह) को भी हटा दिया है।

चुनाव आयोग ने कहा हैं कि यह पहला मौका है जब उन्होंने धारा 324 को इस तरह से लागू किया है। आयोग ने कहा कि यदि चुनाव के दौरान इस तरह की घटनाएं फिर दोहराई गईं तो फिर से सख्त कदम उठाया जाएगा।

बता दें कि 19 मई को पश्चिम बंगाल की बची हुई सीटों पर चुनाव होना है, ऐसे में सभी राजनीतिक पार्टियां अपनी पूरी ताकत झोंक रही हैं। मंगलवार को बीजेपी अध्यक्ष अमित शाह के रोड शो के जमकर खूब हंगामा हुआ। इस दौरान वहां के कॉलेज में ईश्चरचंद विध्यासागर की मूर्ति भी क्षतिग्रस्त हुई थी। बीजेपी और टीएमसी इस हिंसा के लिए एक-दूसरे पर आरोप लगा रही हैं। चुनाव आयोग ने कहा कि उन्हें उम्मीद है कि राज्य प्रशासन मूर्ति को क्षति पहुंचाने वाले को पकड़ लेगा।

क्या अनुच्छेद 324?
आर्टिकल 324 के तहत चुनाव आयोग ऐसे किसी भी मामले में दखल दे सकता है, जिनमें किसी प्रकार की गड़बड़ी या अस्पष्टता लग रही हो। इस अनुच्छेद के तहत चुनाव आयोग को स्वतंत्र और निर्विवाद चुनाव कराने के लिए कुछ शक्तियां दी गई हैं। इसके तहत वह प्रशासन में तैनात अधिकारियों की तैनाती या छुट्टी, प्रचार के समय की अवधि तय करने, प्रचार के नियमन समेत कई महत्वपूर्ण फैसले ले सकता है।

गौरतलब है कि पश्चिम बंगाल की राजधानी कोलकाता में भारतीय जनता पार्टी (बीजेपी) अध्यक्ष अमित शाह के रोडशो के दौरान मंगलवार को जमकर हंगामा हुआ था। रोडशो के दौरान पत्थरबाजी भी हुई, जिसमें बीजेपी के कई समर्थकों के अलावा पत्रकारों को भी चोटें आईं। जगह-जगह पुलिस और बीजेपी समर्थकों में झड़प भी हुई, जिसके चलते पुलिस को लाठीचार्ज भी करना पड़ा।

ऐसे बढ़ा था झगड़ा
बताया गया कि अमित शाह के रोडशो के दौरान ट्रक पर डंडे फेंके जाने से झड़प शुरू हो गई। स्थिति संभालने के लिए पुलिस को लाठी चार्ज भी करना पड़ा। बता दें कि आखिर दौर के चुनाव से पहले अमित शाह मंगलवार को कोलकाता में रोडशो करने पहुंचे। इस रोडशो में जगह-जगह बीजेपी समर्थकों के साथ टीएमसी और लेफ्ट कार्यकर्ताओं से झड़प होती रही।

अराजकता तब शुरू हुई जब अमित शाह का रोडशो कॉलेज स्ट्रीट पर कोलकाता यूनिवर्सिटी के बाहर से गुजरा तो बीजेपी और लेफ्ट पार्टियों के छात्र संगठनों के कार्यकर्ताओं के बीच हाथापाई शुरू हो गई। कई जगहों पर आगजनी भी की गई है, जिसके बाद पुलिस की टीम आग बुझाने में लग गईं। रोडशो के दौरान बिगड़ी स्थिति के चलते विध्यासागर कॉलेज में बनी ईश्चरचंद विध्यासागर की मूर्ति भी तोड़ दी गई।

Jeevan Pant

Leave a Reply